Monday, 09. December 2019, Lucknow, बाबा नीम करौली को जनो और जनो क्या है सफलता का राज

से 09. December 2019 - 16:00
नक्शा दिखाएं
26 उपस्थित लोगों को
घटना विवरण
बाबा नीम करौली / कब आए थे जुकरबर्ग?


द इकोनॉमिक टाइम्स और टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रस्ट के सेक्रेटरी विनोद जोशी ने बताया, "कुछ साल पहले अमेरिकी फिजिशियन और Google.org के पूर्व डायरेक्टर लैरी ब्रिलियंट ने उन्हें फोन किया था। लैरी ने बताया कि मार्क नाम का एक लड़का आश्रम आ रहा है। वह कुछ दिन रुकेगा।" हालांकि, जोशी को यह नहीं याद नहीं है कि जुकरबर्ग किस साल उनके आश्रम आए थे। उन्हें यह नहीं पता था कि मार्क जुकरबर्ग कौन हैं। जोशी के मुताबिक, मार्क अपने साथ सिर्फ एक किताब लेकर आए थे। बदलने के लिए वे कपड़े भी नहीं लाए थे। जुकरबर्ग आए तो एक दिन के लिए थे, लेकिन पंतनगर में मौसम खराब हो गया। इस वजह से वे दो दिन रुके थे।
बाबा नीम करौली

बाबा नीम करौली को जनो और जनो क्या है सफलता का राज, Lucknow घटना

अधिक दिलचस्प घटनाओं खोजें
अपने फेसबुक स्वाद के आधार पर घटना की सिफारिशों जाओ। अब समझे!मुझे मेरे लिए उपयुक्त घटनाओं दिखाएँअभी नहीं